Caste Certificate

about

जाति प्रमाण पत्र क्या करता है और इसकी आवश्यकता क्यों होती है? जाति प्रमाण पत्र किसी के जाति विशेष के होने का प्रमाण है विशेष कर ऐसे मामले में जब कोई पिछड़ी जाति के लिए जाति का हो जैसा कि भारतीय संविधान में विनिर्दिष्ट है। सरकार ने अनुभव किया कि बाकी नागरिकों की तरह ही समान गति से उन्नति करने के लिए पिछड़ी जाति को विशेष प्रोत्साहन और अवसरों की आवश्यकता है। इसके परिणाम स्वरूप, रक्षात्मक भेदभाव की भारतीय प्रणाली के एक भाग के रूप में इस श्रेणी के नागरिकों को कुछ लाभ दिया जाता है, जैसा कि विधायिका और सरकारी सेवाओं में सीटों का आरक्षण, स्कूलों और कॉलेजों में दाखिला के लिए कुछ या पूरे शुल्क की छूट देना, शैक्षिक संस्थाओं में कोटा, कुछ नौकरियों में आवेदन करने के लिए ऊपरी आयु सीमा की छूट आदि। इन लाभों को प्राप्त करने में समर्थ होने के लिए पिछड़ी जाति के व्यक्ति के पास वैध जाति प्रमाण पत्र होना जरूरी है।

आवश्यक दस्तावेज़:
फोटो
आधार कार्ड
वोटर कार्ड
स्वप्रमाणित घोषणा पत्र
यदि उपलब्ध हो तो ग्राम प्रधान का जाति प्रमाण पत्र

नोट:
1. सभी दस्तावेज JPG FORMAT में होने चाहिए.
2. फोटो का साइज़ 30 KB से अधिक नहीं होना चाहिए.
3. सभी दस्तावेजों का साइज़ 100 KB से अधिक नहीं होना चाहिए.
4. यदि आवेदक की उम्र 18 वर्ष से कम है तो आवेदक के पिता का वोटर कार्ड लगा सकते हैं.
5. यदि आवेदक की उम्र 18 वर्ष से ऊपर है तथा आवेदक के पास वोटर कार्ड नहीं है तो ग्राम प्रधान का प्रमाण पत्र लगा सकते है.
6. स्वप्रमाणित घोषणा पत्र DOWNLOAD PAGE पर जा कर स्वप्रमाणित घोषणा डाउनलोड कर सकते हैं.